Tera Naam Tha Padha Lyrics – Darshan Raval & Tulsi Kumar

Tera Naam Tha Padha Lyrics by Darshan Raval and Tulsi Kumar is a new Hindi song with music by Manan Bhardwaj. Manan Bhardwaj wrote the lyrics to Tera Naam, while the video was directed by Navjit Buttar.

Singer: Darshan Raval, Tulsi Kumar
Lyrics: Manan Bhardwaj
Music: Manan Bhardwaj
Music Label: T-Series

(Tera Naam Tha Padha Lyrics in English)


Haan banoon tera qaidi kasam hai khaayi
Haan banoon tera qaidi kasam hai khaayi
Mangun kabhi na phir tujhse rihaayi

Bediyan laga doon tujhe ishk ki
Phir chaahe jo bhi de teri gawaahi

Chhod ke tujhko jaana kahan hai
Jahan hai tu bas rehna wahan hai
Bandh lena kaske mujhe

Mera naam hai likha wahan ikk ped pe
Tu bhi likh dena apna saath mein
Haan mere naam ki kalam syaahi tere naam ki
Bas yehi tu rakhna hath mein

Aaj kal khyalon mein rehti hoon mai tere
Kehti hain saheliyaan meri
Dikhta kyon har jagah tu baar baar mujhko
Kaisi yeh paheliyaan teri

Tere bina nahi hai mera bhi guzaara
Tera mera kya alag hai ab hai hamara
Jahan likha hai naam hamara
Ussi jagah hai ek kinaara milna wahin pe mujhe

Tera naam tha padha maine ikk ped pe
Maine likh diya apna saath mein
Tere naam ki kalam syaahi mere naam ki
Bas yahi tha mere hath mein

Maine suna tha ikk jogi se
Ishq ke baare mein

Maine suna tha ikk jogi se
Ishq ke baare mein
Kaanha mile the Radha ji ko
Nadi kinaare pe
Kaanha mile the Radha ji ko
Nadi kinaare pe

Mai ja pahuncha uss nadi aas ek bas teri
Aur ishq leke saath mein
Mai ja pahuncha uss nadi aas ek bas teri
Aur ishq leke saath mein
Aur ishq leke sath mein

Tera naam tha padha maine ikk ped pe
Maine likh diya apna saath mein
Ho tere naam ki kalam syaahi mere naam ki
Bas yahi tha mere hath mein


(Tera Naam Tha Padha Lyrics in Hindi)


हां बनू तेरा कैदी कसम है खाई
हां बनू तेरा कैदी कसम है खाई
मांगू कभी ना फिर तुझसे रिहा

बेड़ियाँ लगा दूं तुझे इश्क की
फिर चाहे जो भी दे तेरी गवाही

छोड के तुझको जाना कहां है
जहां है तू बस रहना वहां है
बांध लेना कस के मुझे

मेरा नाम है लिखा वहां एक पेड़ पे
तू भी लिख देना अपना साथ में

हां मेरे नाम की कलम
स्याही तेरे नाम की
बस यही तू रखना हाथ में

आज कल ख्यालों में रहती हूं मैं तेरे
कहती हैं सहेलियां मेरी
दिखता क्यूं हर जगह तू
बार बार मुझको
कैसी ये पहलियां तेरी
तेरे बिना नहीं है
मेरा भी गुजरा

तेरा मेरा क्या अलग है
अब है हमारा

जहां लिखा है नाम हमारा
उसी जगह है एक किनारा
मिलना वही पे मुझे

तेरा नाम था पढ़ा मैंने इक पेड़ पे
मैंने लिख दिया अपना साथ में

तेरे नाम की कलम स्याही मेरे नाम की
बस यही था मेरे हाथ में

मैंने सुना था एक जोगी से
इश्क के बारे में

मैंने सुना था एक जोगी से
इश्क के बारे में

कान्हा मिले थे राधा जी को
नदी किनारे पे

कान्हा मिले थे राधा जी को
नदी किनारे पे

मैं जा पहूँचा उस नदी
आस लेके बस तेरी

और इश्क लेके साथ में

मैं जा पहूँचा उस नदी
आस लेके बस तेरी

और इश्क लेके साथ में
और इश्क लेके साथ में

तेरा नाम था पढ़ा मैंने इक पेड़ पे
मैंने लिख दिया अपना साथ में
हो तेरे नाम की कलम स्याही मेरे नाम की
बस यही था मेरे हाथ में

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *