Pehli Dafa Lyrics

Pehli Dafa Lyrics in  English

suna hai, suna hai..
ye rasm-e-wafa hai
jo dil pe nasha hai
wo pehli dafa hai

I’ve heard, I’ve heard,
that this is the ritual of love.
the intoxication that is there on the heart,
it’s for the first time.

kabhi dard si, kabhi zard si
zindagi benaam thi
kaheen chahatein huin meherbaan
haath baRh ke thaamti…

sometimes like a pain, sometimes sad,
my life was without an identity..
somewhere love became kind to me,
coming up and holding my hand..

[zard literally means yellow or pale, so here it’s used to signify a sad, boring life.]

ik wo nazar, ik wo nigaah
rooh mein shaamil is tarah
ban gaya afsaana ik baat se pehli dafa
paa liya hai Thikaana
baahon ki hai panaah

that one sight,
united with my soul in such a way,
that a small thing became a story, for the first time.
now I have found the destination,
it’s the refuge of (your) arms..

suna hai, suna hai..
ye rasm-e-wafa hai
jo dil pe nasha hai
wo pehli dafa hai

lage bewajah alfaaz jo
wo zaroorat ho gaye
taqdeer ke kuch faisley
jo ghaneemat ho gaye

the words I thought of as without reason,
they became a need..
some decisions of fate,
happened, for which I’m thankful.

badla hua har pal hai
rehti khumaari har jagah
pyaar tha anjaana
hua saath mein pehli dafa
ye asar ab jaana
kya rang hai ye chaRha

every moment is changed,
there is an intoxication everywhere.
I was unknown to love,
it was with me for the first time..
now I have known its effect,
I am colored in its color.

Pehli Dafa Lyrics in  English/Hindi

दिल कहे कहानियाँ पहली दफ़ा अरमानों में रवानियाँ

पहली दफ़ा हो गया बेगाना मैं होश से पहली दफ़ा प्यार

को पहचाना एहसास है ये नया सुना है, सुना है ये रश्में वफ़ा

है जो दिल पे नशा है वो पहली दफ़ा है सुना है, सुना है ये रश्में

वफ़ा है जो दिल पे नशा है वो पहली दफ़ा है कभी दर्द सी, कभी

ज़र्द सी ज़िन्दगी बेनाम थी कहीं चाहतें हुई मेहरबान हाथ बढ़ के

थामती इक वो नज़र, एक वो निगाह रूह में शामिल इस तरह बन

गया अफ़साना इक बात से पहली दफ़ा पा लिया है ठिकाना बाहों की

है पनाह सुना है, सुना है ये रश्में वफ़ा है जो दिल पे नशा है वो पहली दफ़ा

है लगे बेवजह अल्फाज़ जो वो ज़रूरत हो गए तक़दीर के कुछ फैसले जो

गनीमत हो गए बदला हुआ हर पल है रहती खुमारी हर जगह प्यार था अंजाना

हुआ साथ में पहली दफ़ा ये असर अब जाना क्या रंग है ये चढ़ा सुना है, सुना है

ये रश्में वफ़ा है जो दिल पे नशा है वो पहली दफ़ा है सुना है, सुना है ये रश्में वफ़ा

है जो दिल पे नशा है वो पहली दफ़ा है

Related Posts