Makhna Lyrics

Makhna Lyrics in English

Yeh bhi na jaane
Woh bhi na jaane
Nainon ke rang naina jaane
Mila jo sang tera
Udaa patang mera
Hawa mein hoke malang

Jag ki koyi reet na jaane
Main to bas teri huyi deewani
Mila jo sang tera
Udaa patang mera
Hawa mein hoke malang

Main chhod aayi ghar-baar mera

Oh makhna ve makhna
Ab tu hi hai sansar mera
Oh makhna ve makhna
Yeh paagal sa hai pyar mera
Oh makhna ve makhna
Main chhod aayi ghar-baar mera
Oh makhna
Main chhod aayi ghar-baar mera
Oh makhna ve makhna
Ab tu hi hai sansar mera
Oh makhna ve makhna
Yeh paagal sa hai pyar mera

Oh makhna ve makhna
Main chhod aayi ghar-baar mera
Oh makhna
Teri hi baatein hon
Subah si raatein hon
Jab se mila hai tu
Dil ko mila sukun
Tu hi raah meri, tu hi safar hai
Teri baahon mein ab mera ghar hai

Chain na jaane, dard na jaane
Dil to bas dil ko pehchane
Mila jo sang tera
Udaa patang mera
Hawa mein hoke malang

Main chhod aayi ghar-baar mera
Oh makhna ve makhna
Ab tu hi hai sansar mera
Oh makhna ve makhna
Yeh paagal sa hai pyar mera
Oh makhna ve makhna
Main chhod aayi ghar-baar mera
Oh makhna

Chhod aayi ghar-baar mera
Ab tu hi hai sansar mera
Yeh paagal sa hai pyar mera
Main chhod aayi ghar-baar mera
Oh makhna

Chhod aayi ghar-baar mera
Tu hi hai sansar mera
Yeh paagal sa hai pyar mera
Main chhod aayi ghar-baar mera
Oh makhna

Makhna Lyrics in Hindi

ये भी ना जाने वो भी ना जाने नैनो के रंग नैना जाने मिला जो संग

तेरा उड़ा पतंग मेरा हवा में होके मलंग जग की कोई रीत ना जाने

मैं तो बस तेरी हुई दीवानी मिला जो संग तेरा उड़ा पतंग मेरा हवा में

होके मलंग मैं छोड़ आई घर-बार मेरा ओ मखणा वे मखणा अब तू ही

है संसार मेरा ओ मखणा वे मखणा यह पागल सा है प्यार मेरा ओ मखणा

वे मखणा मैं छोड़ आई घर-बार मेरा ओ मखणा… छोड़ आई घर-बार मेरा

ओ मखणा वे मखणा अब तू ही है संसार मेरा ओ मखणा वे मखणा यह पागल

सा है प्यार मेरा ओ मखणा वे मखणा मैं छोड़ आई घर-बार मेरा ओ मखणा… तेरी

ही बातें हों सुबह सी रातें हों जब से मिला है तू दिल को मिला सुकून तू ही राह मेरी तू

ही सफ़र है तेरी बाहों में अब मेरा घर है चैन ना जाने दर्द ना जाने दिल तो बस दिल को

पहचाने मिला जो संग तेरा उड़ा पतंग मेरा हवा में होके मलंग मैं छोड़ आई घर-बार मेरा ओ

मखणा वे मखणा अब तू ही है संसार मेरा ओ मखणा वे मखणा यह पागल सा है प्यार मेरा ओ

मखणा वे मखणा मैं छोड़ आई घर-बार मेरा ओ मखणा.. छोड़ आई घर-बार मेरा अब तू ही है

संसार मेरा यह पागल सा है प्यार मेरा मैं छोड़ आई घर बार मेरा ओ मखणा.. मैं छोड़ आई घर-बार

मेरा तू ही है संसार मेरा यह पागल सा है प्यार मेरा मैं छोड़ आई घर-बार मेरा ओ मखणा..

Related Posts