Ghungroo Lyrics

Ghungroo Lyrics In English

Met the sun in the sand

And the sea in the night

And we’re feeling alright

Yeah, we’re feeling alright

Kyun lamhe kharab karein

Aa ghalti behisab karein

Do pal ki jo neend udi

Aa poore saare khaab karein

Kya karne hai umron ke waade

Ye jo rehte hain rehne de aadhe

Do baar nahi ik baar sahi

Ik raat ki kar le tu yaari

Subah tak maan ke meri baat

Tu aise zor se naachi aaj

Ki ghungroo toot gaye

Ki ghungroo toot gaye

Chhod ke saare sharm aur laaj

Main aise zor se naachi aaj

Ki ghungroo toot gaye

Ki ghungroo toot gaye

Dil lena dil dena zaroori nahi hai

Inn baaton ke siva bhi baatein kai hai

Ek lamhein se zyada ki khwahish nahi hai

Phir chaahe dobara na milna kahi

Mere sapne nahi seedhe saadhe

Hai ghalat fehmiyan to mita de

Do baar nahi ek baar sahi

Ek raat ki kar le tu yaari

Subah tak maan ke meri baat

Tu aise zor se naachi aaj

Ke ghungroo toot gaye

Ke ghungroo toot gaye

Chhod ke saare sharm aur laaj

Main aise zor se naachi aaj

Ke ghungroo toot gaye

Ke ghungroo toot gaye

Ishq hai aaj bas kal karna bhi nahi

Dil mein theherna to hai

Par utarna bhi nahi

Mitna bhi hai kuchh der ke liye

Puri umar tumpe marna bhi nahi

Kya karne hai umron ke waade

Ye jo rehte hain rehne de aadhe

Do baar nahi ik baar sahi

Ik raat ki kar le tu yaari

Subah tak maan ke meri baat

Tu aise zor se naachi aaj

Ki ghungroo toot gaye

Ki ghungroo toot gaye

Chhod ke saare sharm aur laaj

Main aise zor se naachi aaj

Ke ghungroo toot gaye

Ke ghungroo toot gaye

Toot gaye

Ke ghungroo toot gaye

Toot gaye

Ke ghungroo toot gaye

Ghungroo Lyrics In Hindi

In the sun and sand the sea in the night

And I’m feeling alright

And I’m feeling alright

क्यूँ लम्हें खराब करें

आ गलती बेहिसाब करें

दो पल की जो नींद उड़ी

आ पूरे सारे ख़्वाब करें

क्या करने है उमरों के वादे

ये जो रहते हैं रहने दे आधे

दो बार नही एक बार सही

एक रात की कर ले तू यारी

सुबह तक मान के मेरी बात

तू ऐसे ज़ोर से नाची आज

हिन्दीट्रैक्स

कि घुँघरू टूट गये

कि घुँघरू टूट गये

छोड़ के सारे शर्म और लाज

मैं ऐसे ज़ोर से नाची आज

कि घुँघरू टूट गये

कि घुँघरू टूट गये

दिल लेना, दिल लेना जरूरी नहीं है

इन बातों के सिवा भी बातें कई है

१ लम्हें से जयदा की ख्वाहिश नहीं है

फिर चाहे दोबारा न मिलना कही

मेरे सपने नहीं सीधे-साधे

है गलतफेहमियाँ तो मिटा दे

दो बार नही एक बार सही

एक रात की कर ले तू यारी

सुबह तक मान के मेरी बात

तू ऐसे ज़ोर से नाची आज

कि घुँघरू टूट गये

कि घुँघरू टूट गये

छोड़ के सारे शर्म और लाज

मैं ऐसे ज़ोर से नाची आज

कि घुँघरू टूट गये

कि घुँघरू टूट गये

इश्क़ है आज बस, कल करना भी नहीं

दिल में ठेरना तो है, पर उतरना भी नहीं

मिटना भी है कुछ देर के लिए

पूरी उम्र तुमपे मरना भी नहीं

क्या करने है उमरों के वादे

ये जो रहते हैं रहने दे आधे

दो बार नही एक बार सही

एक रात की कर ले तू यारी

सुबह तक थाम के तेरा हाथ

तू ऐसे ज़ोर से नाची आज

कि घुँघरू टूट गये

कि घुँघरू टूट गये

छोड़ के सारे शर्म और लाज

मैं ऐसे ज़ोर से नाची आज

कि घुँघरू टूट गये

कि घुँघरू टूट गये

टूट गये

कि घुँघरू टूट गये

टूट गये

कि घुँघरू टूट गये

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *