Abhi Kuch Dino Se Lyrics

Abhi Kuch Dino Se Lyrics in English

अभी कुछ दिनों से लग रहा है
बदले-बदले से हम हैं
हम बैठे-बैठे दिन में सपने
देखते नींदें कम हैं

अभी कुछ दिनों से सुना है दिल का
रौब ही कुछ नया है
कोई राज़ कमबख्त है छुपाये
खुदा ही जाने कि क्या है
है दिल पे शक मेरा
इसे प्यार हो गया

अभी कुछ दिनों से मैं सोचता हूँ
कि दिल की थोड़ी सी सुन लूँ
यहाँ रहने आएगी
दिल सजा लूँ मैं
ख्वाब थोड़े से बुन लूँ
है दिल पे…

तू बेखबर, या सब खबर
इक दिन ज़रा मेरे मासूम दिल पे गौर कर
पर्दों में मैं, रख लूँ तुझे
के दिल तेरा आ ना जाए कहीं ये गैर पर
हम भोले हैं, शर्मीले हैं
हम हैं ज़रा सीधे मासूम इतनी खैर कर
जिस दिन कभी जिद पे अड़े
हम आएँगे आग का तेरा दरिया तैर कर

अभी कुछ दिनों से लगे मेरा दिल
धुत हो जैसे नशे में
क्यूँ लड़खड़ाए ये बहके गाये
है तेरे हर रास्ते में
है दिल पे…

बन के शहर चल रात भर
तू और मैं तो मुसाफिर भटकते हम फिरे
चल रास्ते जहाँ ले चले
सपनों के फिर तेरी आहों में थक के हम गिरे
कोई प्यार की, तरकीब हो
नुस्खे कोई जो सिखाये तो हम भी सीख लें
ये प्यार है, रहता कहाँ
कोई हमसे कहे उससे जा के पूछ लें

मैं सम्भालूँ पाँव फिसल न जाऊँ
नयी-नयी दोस्ती है
ज़रा देखभाल संभल के चलना
कह रही ज़िन्दगी है
है दिल पे…

Abhi Kuch Dino Se Lyrics in Hindi

अभी कुछ दिनों से लग रहा है
बदले बदले से हम है
हम बैठे बैठे दिन में सपने
देकते नीन्दें काम है

अभी कुछ दिनों से लग रहा है
बदले बदले से हम है
हम बैठे बैठे दिन में सपने
देकते नीन्दें काम है

अभी कुछ दिनों से सुना है दिल का
रॉब ही कुछ नया है
कोई राज़ कम्बख्त है छुपाये
खुदा ही जाने की क्या है
है दिल पे शक मेरा

इसे प्यार हो गया

अभी कुछ दिनों से मैं सोचता हूँ
की दिल की थोड़ी सी सुन लून
यहाँ रहने आएगी
दिल सजा लूँ में ख्वाब थोड़े से बून लून
है दिल पे शक मेरा

इसे प्यार हो गया

तू बेखबर
एक दिन ज़रा मेरे मासूम दिल पे गौर कर
पार्डन में मैं रख लूँ तुझे
की दिल तेरा ा न जाए कहीं यह गैर पर

हम भोले है
हम है ज़रा सिद्धे मासूम इतनी खैर कर
जिस दिन कभी
ज़िद्द पे अड़े
हम आएंगे आग का तेरा दरिया तैर कर

अभी कुछ दिनों से लगे मेरा दिल
दूत हो जैसे नशे में
क्यूँ लड़ खड़ाये यह बेहके गए
है तेरे हर रास्ते पे
है दिल पे शक मेरा

इसे प्यार हो गया

बनके शहर चल रात भर
तू और मैं तोह मुसाफिर भटकते हम फिर
चल रास्ते जहाँ ले चले
सपनों के फिर तेरी आहों में ठक के हम गिरे

कोई प्यार की
नुस्खे कोई जो सिखाये तोह हम भी सीख ले
यह प्यार है रहता कहा
कोई हमसे कहे उस से जा क पूछ ले

में सम्भालूं पाव पिसल न जाऊ
नयी नयी दोस्ती है
ज़रा देख भाल संभल के चलना
कह रही ज़िन्दगी है
है दिल पे शक मेरा

इसे प्यार हो गया

अभी कुछ दिनों से सुना है दिल का
रॉब ही कुछ नया है
कोई राज़ कम्बख्त है छुपाये
खुदा ही जाने की क्या है
है दिल पे शक मेरा

इसे प्यार हो गया.

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *